Photo Gallery

Chital

view photo gallery

Recent UpdatesStop

read more

Uttarakhand Goverment Portal, India (External Website that opens in a new window) http://india.gov.in, the National Portal of India (External Website that opens in a new window)

Hit Counter 0002037501 Since: 01-02-2011

Nirmal Ganga Program

Print

गढ़वाल मंडल पौड़ी में भारत सरकार के जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्रालय के सहयोग से नमामि गंगे कार्यक्रम के तहत आज यहां स्थानीय प्रेक्षागृह में जागरूकता एवं जन संवाद अभियान का उद्घाटन प्रदेश के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), सहकारिता, उच्च शिक्षा, दुग्ध विकास डा. धन सिंह रावत ने विशिष्ठ अतिथियों के साथ दीप प्रज्जवलित कर किया। कार्यक्रम में उच्च शिक्षा, सहकारिता, एनएसएस, नेहरू युवा केंद्र तथा स्वजल परियोजना द्वारा आपसी समन्वय बनाकर सभी से गंगा को निर्मल-स्वच्छ-अविरल बनाये जाने के लिए गंगा की शपथ ली। इस अवसर पर गंगा को स्वच्छ बनाये रखने के लिए भारत सरकार द्वारा भुवन गंगा मोबाइल ऐप का विधिवत उद्घाटन किया गया। इस ऐप के माध्यम से गंगा के पुर्नरूद्धार हेतु अपने सुझाव भारत सरकार व राज्य सरकार को दे सकते हैं। कार्यक्रम का शुभारंभ विभिन्न सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों के छात्र -छात्राओ ने एजेंसी चौक से माल रोड, बस स्टेशन, धारा रोड, कलक्ट्रेट परिसर तथा प्रेक्षागृह तक रैली का आयोजित की गई। रैली में विद्यार्थियों के साथ साथ अधिकारियों, गणमान्य, सामाजिक संस्था, पत्रकारो ने भी नमामि गंगे कार्यक्रम के उपलक्ष्य में आयोजित रैली में प्रतिभाग कर जनजागरूकता अभियान चलाया। जिसमें गंगा को निर्मल पावन अविरल और स्वच्छ गंगा संकल्प लिया गया। गंगा के निर्मल बनाये रखने की शपथ मा0 मंत्री द्वारा जनसमुदाय को दिलाई। इसके अलावा मा0 मंत्री, जिला पंचायत अध्यक्षा दीप्ति रावत, विधायक श्री मुकेश कोली, जिलाधिकारी श्री सुशील कुमार, निदेशक नमामि गंगे डा. राघव लंगर, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री जेआर जोशी, पार्टी जिलाध्यक्ष श्री मुकेश रावत द्वारा सामूहिक रूप से दीप प्रज्जवलित किया गया। इस अवसर पर जिला सूचना विभाग की पहल पर परम पर्वतीय रंगमंच तथा शैलजा सामाजिक संस्था द्वारा नमामि गंगे निर्मल गंगा के गीत के माध्यम से पवित्र गंगा को साफ और स्वच्छ रखने का संदेश दिया गया। इसके साथ ही सामाजिक संस्थाओं द्वारा गंगा मां की आरती का मंचन किया गया। ग्राम प्रधान माला गांव श्रीमती बीना देवी ने माला गांव को मॉडल गांव के रूप में विकसित करने की प्रशंसा की। विकास खंड एकेश्वर के सिरासू की प्रधान ने भी नमामि गंगे पर अपने विचार रखे। मा0 मंत्री द्वारा स्व. मेजर ध्यान चंद के जन्म दिवस 29 अगस्त को राष्ट्रीय खेल दिवस के उपलक्ष्य में फुटबालर प्रशांत रावत तथा अनुज नेगी, एथिलेटिक्स में स्वर्ण पदक विजेता रमेश रावत के अलावा क्रिकेटर ऋतु जैन को सम्मानित किया। जिलाधिकारी श्री सुशील कुमार ने नमामि गंगे कार्यक्रम के अवसर पर गंगा की पवित्रता को बनाये रखने के लिए गंगा को प्रदूषण रहित करना, जनजागरूकता चलाने के माध्यम से गंगा को साफ और पवित्र करने की बात कही। उन्होंने कहा कि भारत सरकार के निर्देशों के अनुसार पांच राज्यों के 30 गांवों के चयनित किया गया है। जिनमें से कुछ गांवों में स्वच्छता व अन्य सगंध पादप तथा कृषि, औद्यानिकरण का कार्य शुरू किया गया है। उन्होंने कहा कि पयर्टन की दृष्टि से भी प्रशासन द्वारा पौड़ी जनपद को अग्रणी पयर्टन स्थली बनाने पर भी विचार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमने जो शपथ यहां पर ली है उसे अमल में लाना होगा तभी पूरे भारतवर्ष की गंगा को प्रदूषण मुक्त किया जा सकता है। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष दीप्ति रावत ने कहा कि गंगा मां को धरती पर लाने का काम महान ऋषियों मुनियों द्वारा किया गया। हमें मां गंगा की अविरलता  व स्वच्छता को बनाये रखना होगा। उन्होंने कहा कि गंदे  वातावरण से आज कई बीमारियों का जन्म हो रहा है। जिसे हम संकल्प लेकर गंदगी से लड़ सकते हैं। मा0 विधायक मुकेश कोली ने कहा कि मां व धरती मां से भी बढ़कर हमारी गंगा मां है। हम सबकों मिलकर गंगा को बचाना है।

मा0 मंत्री डा. धन सिंह रावत ने इस अवसर पर कहा कि राजा भागीरथ के बाद हमारे देश के मा0 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व उमा भारती मां गंगा की पवित्रता के बारे में उच्चस्तरीय सोच रखी है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा 22 हजार करोड़ रूपये गंगा को साफ व निर्मल किये जाने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा चार धाम को रेल मार्ग के लिए 7 हजार करोड़ उत्तराखंड पर खर्च किया जायेगा। उन्होंने कहा कि ऋषि मुनियों ने गंगा को देव गंगा का नाम दिया था। शोध में प्राप्त साक्ष्यों के आधार पर उन्होंने बताया कि गंगा का पानी कभी खराब नहीं होता। उन्होंने कहा कि ग्राम प्रधान, बीडीसी मेंबर, छात्र छात्राओं तथा पंचायत प्रतिनिधियों के माध्यम से जन जागरूकता अभियान चलाकर इस अभियान को सफल बनाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि भागवत गीता के समय भी गंगा की शपथ लिये जाने की भी बात कही गई है। इस अवसर पर उन्होंने विभिन्न 25 गंगाओं का नाम व्याख्यान करते हुए रूद्र गंगा, बाल गंगा, हनुमान गंगा, अलकनंदा, सरस्वती, लक्ष्मण गंगा, आकाश गंगा, पाताल गंगा, कंचन गंगा, गरूड़ गंगा, विरही गंगा, पिंडर नदी, नयार गंगा आदि का नाम लिया। इस अवसर पर खुले में शौच से मुक्ति के लिए पांच ग्राम प्रधानों को अंग वस्त्र और स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। जिनमें कल्यासौड़ की ग्राम प्रधान सुनीता देवी, गंगा ग्राम माला की प्रधान बीनादेवी, प्रधान सिरासू पवित्रा देवी, प्रधान ग्राम नागरची नरेंद्र सिंह, ग्राम प्रधान थान सोहन सिंह शामिल हैं। राज्य में नमामि गंगे  कार्यक्रम एवं स्वजल के निदेशक डा. राघव लंगर ने गंगा की पवित्रता तथा गंगा के तटों पर बसे गावों के उत्थान हेतु सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं से लोगों को अवगत कराया। उन्होंने कहा कि गंगा की पवित्रता, स्वच्छता और अविरलता बनाये रखने के लिए राज्य सरकार से सहयोग की अपेक्षा जन सहभागिता का विशेष योगदान जरूरी है। इस मौके पर संतोषी रावत ब्लाक प्रमुख पौड़ी, ब्लाक प्रमुख यमेश्वर कृष्णा नेगी, संयुक्त निदेशक उच्च शिक्षा डा. सविता मोहन, मुख्य विकास अधिकारी विजय कुमार जोगदंडे, परियोजना निदेशक एसएस शर्मा, सहायक परियोजना निदेशक सुनील कुमार, जिला विकास अधिकारी वेद प्रकाश, डीपीआरओ एमएम खान, स्वजल प्रबंधक अनील कुमार समेत विभिन्न विभागों को अधिकारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन गणेश खुगशाल गणी ने किया।      

 

1

नमामि गंगे अभियान के तहत हरी झंडी दिखाकर रैली को रवाना करते राज्य मंत्री डॉ धन सिंह रावत एवं विधायक पौड़ी श्री मुकेश कोली व अन्य।

2

नमामि गंगे के तहत रैली में पदचालन करते राज्य मंत्री डॉ धन सिंह रावत  विधायक श्री मुकेश कोलीए डीएम श्री सुशील कुमार एसएसपी श्री जे आर जोशी निदेशक नमामि गंगे डॉ राघव लांगर एवं अन्य।

3

पौड़ी के एजंसी चैक में एकत्रित स्कूली छात्र-छात्राएॅ व विभिन्न संगठनों के लोग रैली की तैयारी में।

4

आयोजित रैली में गंगा को निर्मल बनाये जाने के नारे लगाती छात्राएॅ |

5

ऑडिटोरियम पौड़ी में नमामि गंगे कार्यक्रम में विचार व्यक्त करते राज्य मंत्री डॉ धन सिंह रावत।

6

गंगा को स्वच्छ बनाये रखने की शपथ लेते स्कूली छात्र-छात्राएॅ, विभिन्न संगठनों के लोग, कर्मचारीगण एवं उपस्थित जनता |