Photo Gallery

Chital

view photo gallery

Recent UpdatesStop

read more

Uttarakhand Goverment Portal, India (External Website that opens in a new window) http://india.gov.in, the National Portal of India (External Website that opens in a new window)

Hit Counter 0001987355 Since: 01-02-2011

ITBP madical Camp News in GIC kaleshwar

Print

 

भारत तिब्बत सीमा पुलिस, सीमाद्वार, देहरादून के उत्तरी परिक्षेत्र की ओर से

राजकीय इंटर कालेज कालेश्वर में आयोजित चिकित्सा शिविरः-

सूचना/पौड़ी/दिनांक 22 जुलाई 2017,
    उत्तरी परिक्षेत्र भारत तिब्बत सीमा पुलिस सीमाद्वार देहरादून के महानिरीक्षक एचएस गौरैया पीएमजी के दिशा निर्देशों के क्रम में जनपद के सूदरवर्ती क्षेत्र कालेश्वर में निः शुल्क चिकित्सा जांच शिविर का आयोजन दल के रूद्रप्रयाग एवं शिमला सेक्टर के कमांड अधिकारियों के देख रेख में सम्पन्न हुआ। इस चिकित्सा शिविर का उद्घाटन प्रातः 8 बजे बतौर मुख्य अतिथि मुख्य विकास अधिकारी विजय  कुमार जोगदंडे ने किया। उन्होंने इस अवसर पर इस क्षेत्र के तमाम लोगों को अपनी चिकित्सा जांच डाक्टरों के सम्मुख उपस्थित होकर करवाने तथा अपनी बीमारियों का इलाज कराने के लिए दल के विशेषज्ञ डाक्टरों से परामर्श लेकर अपने स्वास्थ्य में सुधार लाने को कहा। चिकित्सा शिविर में गौचर के कमांडर आफिसर गिरीश चंद्र पुरोहित तथा देहरादून सेक्टर के सीएमओ एसएजी डा. सुरेंद्र सिंह महर ने संयुक्त रूप से इस चिकित्सा शिविर की जानकारी देते हुए बताया कि भारत सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में निःशुल्क चिकित्सा शिविर लगाकर रोगियों की जांच, निःशुल्क दवाओं का वितरण, पैथोलोजी एवं टीकाकरण जैसे शिविर लगाकर ग्रामीण क्षेत्रों की जनता की चिकित्सा सुविधा व परामर्श दिये जाने की पहल चलाई जा रही है। इसी क्रम में आज जनपद के सुदरवर्ती क्षेत्र राजकीय इंटर कालेज कालेश्वर के प्रांगण में वृहद निःशुल्क चिकित्सा जांच शिविर तथा पशुधन शिविर भारत तिब्बत सीमा पुलिस के उत्तरी परिक्षेत्र द्वारा किया गया। इस अवसर पर आईटीबीपी के विशेषज्ञ डाक्टरों द्वारा पांच सौ से अधिक अंतरंग एवं बहिरंग रोगियों की जांच तथा पैथोलोजी की जांच कर उन्हें चिकित्सीय परामर्श दिया गया। शिविर में दर्जनों मवेशियों का भी परीक्षण एवं निःशुल्क दवाएं काश्तकारों को वितरित की गई। आईटीबीपी द्वारा सुदूरवर्ती क्षेत्र कालेश्वर में क्षेत्र से लगे नजदीकी गांव के लोगों द्वारा अपने स्वास्थ्य की जांच कराने इस शिविर में आये। चिकित्सा शिविर में स्त्री रोग विशेषज्ञ डा. संध्या थपलियाल ने महिलाओं और बच्चों का स्वस्थ्य परीक्षण कर उन्हें चिकित्सीय परामर्श दिया। शिविर में बाल रोग विशेषज्ञ डा.एचएस धर्मशत्तु, नेत्र रोग विशेषज्ञ डा. अनंत कुमार, जरनल फिजिशियन डा. बोविल, डा. सोनी पराशर, डा. अशोक तथा पशुचिकित्सक डा. राजवीर सिंह आदि ने शिविर में आये लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण, पैथोलोजी जांच, निःशुल्क दवा वितरण तथा एंटी बायोटिक टीकाकरण के साथ ही गंभीर बीमारियों को लेकर लोगों को परामर्श दिया तथा इसके  लिए क्षेत्रवासियों को जागरूक किया। शिविर में जीआईसी कालेश्वर के प्रधानाचार्य, शिक्षकों, क्षेत्रीय ग्रामवासियों ने आईटीबीपी द्वारा लगाये गये स्वास्थ्य शिविर को ऐतिहासिक बताया तथा कहा कि इस प्रकार के शिविरों से लोगों को उनके पास चिकित्सीय जांच के उपरांत निःशुल्क दवा प्राप्त होने से निश्चित रूप से स्वास्थ्य में सुधार आयेगा। इसके लिए क्षेत्रवासी आईटीबीपी के सराहनीय प्रयास के लिए कृतज्ञ रहेंगे। इसके अलावा इस अवसर पर आईटीबीपी के डिप्टी कमांडर अधिकारी प्रेम सिंह तथा सहायक कमांडेट अजय कुमार ने शिविर की विभिन्न व्यवस्थाओं के सफल संचालन में सहयोग किया।

     
   
आईटीबीपी की ओर से पौड़ी ब्लाक के जीआईसी कालेश्वर में आयोजित चिकित्सा शिविर में उपचार के बाद लोगों को निःशुल्क दवा देते मेडिकल टीम के जवान।
आईटीबीपी की ओर से पौड़ी ब्लाक के जीआईसी कालेश्वर में आयोजित चिकित्सा शिविर में उपचार के बाद लोगों को निःशुल्क दवा देते मेडिकल टीम के जवान।
   
आईटीबीपी की ओर से पौड़ी ब्लाक के जीआईसी कालेश्वर में आयोजित चिकित्सा शिविर में उपचार के बाद परामर्शानुसार दवाईयों को लिए कतार में खडे़ ग्रामीण। आईटीबीपी की ओर से पौड़ी ब्लाक के जीआईसी कालेश्वर में आयोजित चिकित्सा शिविर में महिला रोगों की जांच कर उचित परामर्श देती मेडिकल टीम  की महिला रोग विशेषज्ञ।
   
आईटीबीपी की ओर से पौड़ी ब्लाक के जीआईसी कालेश्वर में आयोजित चिकित्सा शिविर में महिला रोगों की जांच करती मेडिकल टीम की महिला रोग विशेषज्ञ। आईटीबीपी की ओर से पौड़ी ब्लाक के जीआईसी कालेश्वर में आयोजित चिकित्सा शिविर में रोगों के उपचार हेतु पहुंचे विभिन्न क्षेत्रों के ग्रामीण।
   
आईटीबीपी की ओर से पौड़ी ब्लाक के जीआईसी कालेश्वर में आयोजित चिकित्सा शिविर में विशेषज्ञों के कैम्प के बाहर अपनी बारी का इंतजार करते लोग।