Photo Gallery

Chital

view photo gallery

Recent UpdatesStop

read more

Uttarakhand Goverment Portal, India (External Website that opens in a new window) http://india.gov.in, the National Portal of India (External Website that opens in a new window)

Hit Counter 0001987356 Since: 01-02-2011

Harela Mahotsav 2017

Print

हरेला महोत्सव 2017 के तहत आयोजित पौधरोपण कार्यक्रम का विवरण।

वन, उद्यान व कृषि विभाग की संयुक्त पहल पर जिले में हरेला महोत्सव के तहत अधिकारियों, कर्मचारियों तथा जन प्रतिनिधियों  के साथ आम लोगों ने बड़ी संख्या में पौध रोपण किया। डीएम व सीडीओ समेत वन, कृषि, उद्यान व शिक्षा समेत आदि विभागों के कई अधिकारियों ने पौड़ी ब्लाक के वन पंचायत रांई, हनुमान मंदिर स्थल व पाबौ ब्लाक के सीकू में बांज, बुरांश एवं अनार के पौधे लगाये। इस मौके पर उन्होंने पर्यावरण बचाने के लिए पौधों का संरक्षण करने का भी संकल्प लिया। उन्होंने कहा कि 16 जुलाई से 16 अगस्त तक आयोजित हरेला महोत्सव के तहत जिले के विभिन्न ब्लाकों में पांच लाख पौधा का रोपण किया जाएगा।  जिसमें वन, उद्यान, शिक्षा तथा कृषि विभाग समेत विभिन्न शिक्षण संस्थानों, महिला व युवक मंगल दलों तथा विभिन्न सामाजिक संगठनों की ओर से पौध रोपण अभियान को सफल बनाया जाएगा। इस मौके पर डीएम ने सीकू के लिए स्वीकृत कोला पातल पेयजल पंपिंग योजना को पूरा करने के लिए अन्य मद से धनराशि स्वीकृत करने को कहा।

वन विभाग की ओर से पूर्व प्रस्तावित कार्यक्रम का विधिवत शुभारंभ बतौर मुख्य अतिथि जिलाधिकारी सुशील कुमार ने किया। पौड़ी ब्लाक के राई वन पंचायत, हनुमान मंदिर परिसर में आयोजित हरेला महोत्सव  धूमधाम के साथ मनाया गया। इस मौके पर जिलाधिकारी, सीडीओ समेत जिलास्तरीय अधिकारियों के साथ के तहत विभिन्न सामाजिक संगठनों, शिक्षण संस्थानों आदि ने कई प्रजातियों के पौधों का रोपण किया। उन्होंने निरंतर घट रहे वन सम्प्रदा पर चिंता जताई। कहा कि औद्योगीकरण होन से पर्यावरण लगातार दूषित हो रहा है। वहीं इससे पौधों पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। उन्होंने पहाड का पानी व पहाड़ की जवानी को पुनः पहाड़ के हित में इस्तेमाल करने के लिए पौधरोपण अभियान को मील का पत्थर बताया। इस मौके पर जिलाधिकारी सुशील कुमार ने लोगों से सामूहिक भागीदारी कर पर्यावरण का संरक्षण कर जल संवर्द्धन तथा जल स्रोतों का रख रखाव करने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि पहाड़ों में गर्मी का मौसम शुरू होते ही जिले में पीने के पानी की समस्या गहराने लगती है। पौधरोपण से न केवल पीने के पानी की समस्या से निजात मिलेगी बल्कि इससे पर्यावरण को संरक्षण करने में बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने वृक्षारोपण के साथ ही पौधों का संरक्षण करने को भी अहम बताया। हरेला अभियान के तहत जिलाधिकारी ने सभी अधिकारियों, कर्मचारियों, शिक्षण संस्थानों तथा आम लोगों को एकजुट होकर देशहित में पौधरोपण करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि विभिन्न ब्लाकों में शिक्षित युवा विभिन्न प्रजातियों को फलदार पौधे लगाकर अपनी आजीविका से जोड़ सकते हैं। इसके लिए जिला प्रशासन की ओर से उन्हें आर्थिक सहायता व फलोत्पादन की तकनीकि जानकारियां मुहैया कराई जाती हैं। इसके अलावा उद्यान विभाग की ओर से पौधे का बीमा कर उसका लाभ भी दिया जा रहा है।

पाबौ ब्लाक के ग्राम पंचायतघर सीकू में आयोजित हरेला महोत्सव का शुभारंभ विधिवत पूजा अर्चना के साथ शुरू किया गया। जिलाधिकारी ने मंत्रोच्चारण के साथ अनार प्रजाति के पौध का रोपण किया। इस मौके पर जिलाधिकारी सुशील कुमार ने ग्रामीण क्षेत्रों के खाली व बंजर जगहों पर फलदार व चारा प्रजाति समेत अन्य प्रजाति की पौध लगाने को कहा। उन्होंने क्षेत्र के युवाओं को कलस्टर के आधार पर अधिकाधिक पौधों का रोपण करने तथा इसे अपनी आजीविका में शामिल कर आर्थिकी को भी सुदृढ़ करने के लिए लोगों को प्रेरित किया। उन्होंने विशेष रूप से शिक्षित युवाओं को इस ओर अपना ध्यान आकर्षित करने पर जोर दिया। कहा कि शिक्षित बेरोजगार युवा कृषि एवं बागवानी को अपनाकर अपना स्वरोजगार स्थापित कर सकते हैं। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में लगातार हो रहे पलायन पर भी चिंता जताई। कहा कि प्रदेश के पहाड़ी क्षेत्रों में सर्वाधिक पलायन पौड़ी जिले से हो रहा है। इस पर अंकुश लगाने के लिए जिला प्रशासन की ओर से युवाओं का विभिन्न प्रकार के स्वरोजगार परक कार्यक्रमों की जानकारी व उनका तकनीकि प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है। जिला प्रशासन की ओर से ऐसे युवाओं को आर्थिक सहायता की भी व्यवस्था दी जा रही है। उन्होंने युवाआंें से ग्रामीण क्षेत्रों में चारा प्रजाति के पौधरोपण करने को कहा। जिससे कि युवा कृषि व बागवानी के साथ ही पशुपालन को भी व्यवसाय से जोड़ सकें। उन्होंने युवाओं से विभिन्न प्रकार के मौसमी सब्जी उत्पादन करने को कहा। कहा कि इससे ने केवल युवाओं की आर्थिकी बढ़ेगी बल्कि पहाड़ी क्षेत्रों में पलायन पर भी अंकुश लगाया जा सकेगा। इस मौके पर सीकू में एकीकृत आजीविका सहयोग परियोजना जलागम के माध्यम से अनार के करीब एक हजार पौधों का रोपण किया गया। जिलाधिकारी ने कहा कि जल स्रोतों का रख रखाव किया जाना भी नितांत आवश्यक है। उन्होंने पौधारोपण वाले जगहों के चारों ओर चाहर दीवारी का निर्माण करने को कहा। इस मौके पर ग्रामीणों की ओर से सीकू के लिए स्वीकृत कोला पातल पंपिंग योजना को पूरी करने की मांग उठाई गई। जिलाधिकारी ने कहा कि कोला पातल पम्पिंग योजना के लिए अन्य मद से धनराशि स्वीकृत कर योजना को शीघ्र ही पूर्ण करने का प्रयास किया जायेगा। उन्होंने वन विभाग की ओर से आयोजित पौधो रोपण अभियान में आम लोगों की सहभागिता अहम बताया। उन्होंने पर्यावरण बचाने के लिए वन महकमें के साथ आम लोगों को भी अपना अहम योगदान देने का आह्वान किया। इस मौके पर कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि मुख्य विकास अधिकारी विजय कुमार जोगदंडे ने वन, उद्यान व कृषि विभाग की ओर से किये जा रहे प्रयासों को सराहनीय बताया। उन्होंने जलागम द्वारा सीकू में किये गये प्रयासों को जनहित में बताया। गढ़वाल वन प्रभाग के प्रभागीय वनाधिकारी रमेश चंद ने बताया कि जिले में विभिन्न प्रजातियों के पांच लाख से अधिक पौधे लगाये जाएंगे। उन्होंने बताया कि पौधारोपण अभियान हरेला महोत्सव से आगामी स्वतंत्रता दिवस तक आयोजित किया जायेगा। जिसमें ब्लाक वार भी वन विभाग व शिक्षण संस्थानों व अन्य समाज संगठनों की सहायता से पौध रोपण अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने बताया कि हरेला महोत्सव के तहत पहले दिन पचास हजार पौधों के रोपण का लक्ष्य निर्धारित किया गया। हरेला  महोत्सव के तहत पहले दिन विभिन्न शिक्षण संस्थानों, कार्यालय परिसरों, विकास खंडों, तहसील परिसरों तथा ग्राम सभाओं में बृहत स्तर पर पौधरोपण कार्यक्रम के दौरान पौधारोपण किया गया। इस मौके पर पीडी एसएस शर्मा, डीडीओ वेद प्रकाश, मुख्य कृषि अधिकारी डा. डीएस राणा, जिला उद्यान अधिकारी डा. नरेंद्र कुमार, सीएमओ डा. आरएस राणा, प्रभागीय वनाधिकारी सिविल एवं सोयम वन प्रभाग लक्ष्मण सिंह रावत, डीपीआरओ एमएम खान, बीडीओ पाबौ एसपी थपलियाल समेत विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी व कर्मचारियों के अलावा ग्राम पंचायत सीकू के प्रधान राकेश कुमार, ज्येष्ट उप प्रमुख पाबौ बृजमोहन, खातस्यूं विकास समिति के सचिव प्रेम सिंह, क्षेत्रीय जनता महिलाएं, बच्चे आदि उपस्थित रहे। सीकू में आयोजित कार्यक्रम का संचलान परियोजना अधिकारी आईएलएसपी एके मिश्रा ने किया।

Celebrating "Harela Mahotsav Pauri 2017" / हरेला महोत्सव पौड़ी 2017 की स्मृतियाँ

1

हरेला महोत्सव 2017 के तहत रांई वन पंचायत में पौधारोपण करते जिलाधिकारी
सुशील कुमार, सीडीओ विजय कुमार जोगदंडे, डीएफओ रमेश चंद्र व अन्य।

2

हरेला महोत्सव 2017 के तहत रांई वन पंचायत में पौधारोपण करते जिलाधिकारी
सुशील कुमार, सीडीओ विजय कुमार जोगदंडे, डीएफओ रमेश चंद्र व अन्य।

3

हरेला महोत्सव 2017 के तहत रांई वन पंचायत में पौधारोपण करते जिलाधिकारी
सुशील कुमार, सीडीओ विजय कुमार जोगदंडे, डीएफओ रमेश चंद्र व अन्य।

4

हरेला महोत्सव 2017 के तहत रांई वन पंचायत में पौधारोपण करते सीडीओ
विजय कुमार जोगदंडे।

5

हरेला महोत्सव 2017 के तहत रांई वन पंचायत में पौधरोपण के बाद एकत्रित
जिलाधिकारी सुशील कुमार, सीडीओ विजय कुमार जोगदंडे, डीएफओ रमेश
चंद्र व अन्य।

6

हरेला महोत्सव 2017 के तहत पाबौ ब्लाक के सीकू में आयोजित पौधारोपण से
पूर्व विधिवत पूजा करते जिलाधिकारी सुशील कुमार, सीडीओ विजय कुमार
जोगदंडे, व अन्य अधिकारी ।

7

हरेला महोत्सव 2017 के तहत पाबौ ब्लाक के सीकू में आयोजित पौधारोपण से
पूर्व विधिवत पूजा करते जिलाधिकारी सुशील कुमार, सीडीओ विजय कुमार
जोगदंडे, व अन्य अधिकारी ।

8

हरेला महोत्सव 2017 के तहत पाबौ ब्लाक के सीकू में पौधारोपण
करते जिलाधिकारी सुशील कुमार, सीडीओ विजय कुमार जोगदंडे, व अन्य    
अधिकारी ।

9

हरेला महोत्सव 2017 के तहत पाबौ ब्लाक के सीकू में पौधारोपण
करते डीडीओ वेद प्रकाश समेत अन्य जिला स्तरीय अधिकारी।